Kali Linux क्या है।

0

Hello Dosto

अगर आपने हमारे पिछले पोस्ट पढ़ा होगा तो उसमें हमने ये बतया था कि लिनक्स क्या है। अगर आपने ये हमारे पोस्ट को अभी तक नही पढ़ा है तो इसे पहले हमारे इस पोस्ट को पढ़ ले।

आज के इस पोस्ट में हैम kali linux के बारे में बात करेंगे की काली लिनक्स क्या है। काली लिनक्स बहुत ज्यादा पॉपुलर हो गया था आज हम इसी के बारे में बात करेंगे तो चलिए जानते है।

Kali linux kya hai.

काली लिनक्स क्या है।

काली लिनक्स एक डेबियन-आधारित लिनक्स वितरण है जिसका उद्देश्य उन्नत पेनेट्रेशन टेस्टिंग और सिक्योरिटी ऑडिटिंग है। kali linux को 13 मार्च 2013 को बनाया गया था। बैक्ट्रैक को पुर्ननिर्माण करके काली लिनक्स को बनाया गया है  काली लिनक्स निक्स ऑपरेटिंग सिस्टम के परिवार का एक हिस्सा है। यह एक ओपन सोर्स सोफ्टवेर है। जो बिल्कुल फ्री है। इसे आक्रमक सुरक्षा द्वारा विकशित किया जाता है। और इसका इंटरफ़ेस GNOME 3 है। इसकी मदद से हम बहुत से काम कर सकते है जो हम नीचे में जानेंगे।

विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है।

काली लिनक्स की सुविधा

आप भी ये जानने के कोशिश कर रहे होंगे कि की आखिर kali linux में क्या क्या सुविधा मिलता है तो चलिए नीचे जानते है।

  • 600 से भी अधिक परीक्षण उपकरण शामिल है:- बैक्ट्रैक (जो अब काली लिनक्स है) में शामिल किए गए प्रत्येक टूल अब  kali linux में उपलब्ध है और उन टूल को हटा दिया गया है जिसका कोई काम नही था काली मिल है।
  • बिल्कुल फ्री : काली लिनक्स , बैक्ट्रैक की तरह ही बिल्कुल फ्री है और ये हमेशा रहेगा। आपको कभी भी काली लिनक्स के लिए pay नही करना होगा।
  • वाइड वायरलेस डिवाइस सपोर्ट: काली लिनक्स में बहुत से उपकरण को वायरलेस दिया गया है ताकि बहुत से उपकरण बिना usb के भी चल सके।
  • Custom कर्नल :-लिनक्स कर्नल में आधुनिक इंजेक्शन पैच शामिल है। जो वायरलेस उपकरण के लिए अच्छा से काम कर सके।
  • सुरक्षित वातावरण में विकशित:-kali linux कई तरह के प्रोटोकॉल का उपयोग करती है जो पूरी तरह से सुरक्षित है।
  • बहुभाषा सपोर्ट-:- काली लिनक्स पर ज्यादा तर इंग्लिश में लिखे जाते है लेकिन काली लिनक्स बहुत से भाषा को सपोर्ट करता है।
  • पूरी तरह से अनुकल:- kali linux को उपयोगकर्ता के अनुसार जितना आसान हो सके उतना आसान डिज़ाइन किया गया है।

गूगल एडसेंस से पैसा कैसे कमाए।

काली लिनक्स को उपयोग करने के लिए जरूरी चीज।

Kali linux को हम उपयोग करते है तो हमे कुछ जरूरी चीजे की जरूरत पड़ती है वो क्या क्या है चलिए जानते है।

  • हार्ड डिस्क:- काली लिनक्स को कंप्यूटर में इनस्टॉल करने के लिए 1GB का का हार्ड डिस्क होना जरूरी है।
  • Ram:- I386 और AMD64 आर्किटेक्चर के लिए न्यूनतम 512MB RAM होना जरूरी है।
  • ड्राइव:- सिस्टम को बूट करने के लिए एक CD-DVD या USB स्टिक होना जरूरी है।

काली लिनक्स में सुरक्षा में उपयोग किये जाने वाला टूल

Kali linux में सुरक्षा उपकरण शामिल होते है जैसे कि- Aircrack-ng,Armitage,Burp suite,Ettercap,John the Ripper,Kismet,Maltegoऔर भी बहुत कुछ है। सिस्को नेटवर्क एक्सप्लॉयटर, सिस्को नेटवर्क सिस्टम में कमजोरियों को खोजने और उनका फायदा उठाने के लिए इस्तेमाल किये जाने वाला हैकिंग टूल है।

इन उपकरणों का उपयोग कई उद्देश्यों के लिए किया जा सकता है जिनमें से अधिकांश में एक पीड़ित नेटवर्क या एप्लिकेशन का शोषण करना, नेटवर्क खोज करना या एक लक्ष्य डेटा पता स्कैन करना शामिल है।

काली लिनक्स का उपयोग,

आप ये भी जानने की कोशिश कर रहे होंगे कि kali linux का क्या उपयोग किया जाता है।

  • सबसे पहली बात kali linux का उपयोग हैकिंग करने और हैकिंग सीखने के लिए किया जाता है।
  • Kali linux का उपयोग किसी भी सिस्टम का सिक्योरिटी कमजोरी ढूंढने और सिक्योरिटी तोड़ने में मदद आता है।
  • इसका यूज़ रिवर्स इंजीनियरिंग में भी किया जाता है।
  • Kali linux का उपयोग और भी कामों में किया जाता है।

वेब होस्टिंग क्या है।

काली लिनक्स कौन कौन से प्लेटफार्म को सपोर्ट करता है।

अब आप यही सोच रहे है कि आखिर kali linux कोन कौन से प्लेटफार्म को सपोर्ट करती है। अब kali linux बहुत ज्यादा पॉपुलर हो गया जिसके वजह से यह बहुत से ऑपरेटिंग सिस्टम में सपोर्ट करता है। आप kali linux को विंडोज और kali linux के ऑफिसियल वेबसाइट से डाउनलोड कर सकते है।

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है कि आपको हमारा ये पोस्ट पसंद आया होगा या फिर अगर आप के पास अभी भी कोई सवाल है तो आप नीचे कमेंट करें।?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here